Category

Raipur news in hindi

Category

रायपुर। देश में कोयले की कमी की चर्चाओँ के बीच छत्तीसगढ़ का राजनीतिक माहौल गरमा गया है.. बढ़ते कोल संकट और बिजली कटौती के बीच लड़ाई अब केंद्र बनाम राज्य में तब्दील होती दिख रही है.. मौजूदा हालात के लिए छत्तीसगढ़ समेत कई राज्य केंद्र को कठघरे में खड़ा कर रहे हैं..तो वहीं केंद्रीय कोयला मंत्री ने संकट के लिये राज्यों को जिम्मेदार ठहराया है.. बहरहाल सियासी आरोप-प्रत्यारोप से इतर बड़ा सवाल है कि.. कोल संकट के लिए जिम्मेदार कौन है.. राज्यों के पास कोयला की किल्लत क्यों हुई.. आखिर कौन सच्चा है और कौन झूठा..

ये भी पढ़ें:नीदरलैंड के प्रधानमंत्री को जान से मारने की धमकी : अदालती दस्तावेज

देश में कोयले की कमी से घमासान मचा हुआ है.. एक के बाद एक कई राज्यों में कोयले की कमी से सियासी पारा भी चढ़ने लगा है..हालांकि केंद्र सरकार की तरफ से भरोसा दिया जा रहा है कि हालात पर जल्द काबू पा लिया जाएगा..कोयले की कमी से आए बिजली संकट और उसे लेकर हो रही सियासत के बीच केंद्रीय कोयला मंत्री प्रह्लाद जोशी छत्तीसगढ़ पहुंचे..और कोयला खदानों का निरीक्षण कर कोल इंडिया और SECL के अधिकारियों की बैठक ली..

ये भी पढ़ें:डिश टीवी निदेशक मंडल ने यस बैंक के बोर्ड पुनर्गठन के लिए ईजीएम बुलाने की मांग खारिज की

इससे पहले बिलासपुर पहुंचे केंद्रीय मंत्री ने मीडिया से कहा कि देश में पर्याप्त कोयला उपलब्ध है..कहीं बिजली संकट नहीं होगी…केंद्र ने मामले में यू टर्न लिया तो मुख्य़मंत्री भूपेश बघेल ने केंद्रीय मंत्री के दौरे को लेकर निशाना साधा कि.. केंद्र सरकार कहती है, कोयले का कोई कोई संकट नहीं है, अगर संकट नहीं है तो कोयला मंत्री छत्तीसगढ़ क्यों आ रहे हैं..केंद्र को सच्चाई स्वीकार करनी चाहिए..कोयला संकट के बीच केंद्रीय मंत्री के दौरे को लेकर मुख्यमंत्री ने केंद्र पर निशाना साधा तो… पलटवार करने बीजेपी नेताओं ने भी मोर्चा संभाला..और राज्य सरकार की नीतियों पर सवाल उठाए..

ये भी पढ़ें:रिलायंस इंडस्ट्रीज का बाजार पूंजीकरण 17 लाख करोड़ रुपये के पार

केंद्र और राज्य सरकार के बीच चल रहे घमासान में बिजली का संकट लगातार बना हुआ है.. देश में त्योहार का मौसम है..दशहरा और फिर दीवाली.. ऐसे में बिजली संकट एक बड़ी समस्या बनती नजर आ रही है..जिसपर सियासत तेज है…कोई जिम्मेदारी लेने को तेयार नहीं है..केंद्र सरकार लगातार दावा कर रही है..जल्द ही इस बिजली संकट से निजाद मिल जाएगा..लेकिन बड़ा सवाल है कि .. आखिर क्या है कोयले की कमी का सच.. आखिर कौन है इसका जिम्मेदार ..क्या सच में कोयले की कमी विकराल रूप लेने वाला है…


IMG 20211013 010408 | City News - Chhattisgarhरायपुर, कोविड के पश्चात् बढ़ते मानसिक तनाव को दूर करने के लिए आम लोगों को जागरूक बनाने के उद्देश्य से अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के मनोचिकित्सा विभाग के तत्वावधान में निरंतर कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। इसमें लोगों में बढ़ते अवसाद को दूर करने के लिए विशेष रूप से विभिन्न उपाय बताए जा रहे हैं। चिकित्सकों ने आम लोगों का आह्वान किया है कि वे निजी जीवन के साथ व्यावसायिक और अध्यात्मिक भाग में सामंजस्य रखें और अपनी रूचि के विषयों पर भी ध्यान दे। इनमें से किसी भी पक्ष में असमानता होने पर अवसाद का शिकार हो सकते हैं।

निदेशक प्रो. (डॉ.) नितिन एम. नागरकर ने कहा है कि एम्स में मनोरोगियों की संख्या निरंतर बढ़ रही है। कोविड के बाद कई प्रकार की मानसिक बीमारियों के रोगी एम्स में पहुंच रहे हैं। ऐसे में दवाइयों और चिकित्सकों की काउंसलिंग के साथ-साथ योग, संगीत और परिवार का साथ भी मनोरोगों को दूर करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। उन्होंने इसके लिए सामाजिक स्तर पर पहल करने पर जोर दिया।

विभागाध्यक्ष डॉ. लोकेश कुमार सिंह ने बताया कि मनोरोग से बचने के लिए जरूरी है कि व्यक्तिगत, शारीरिक, मानसिक, अध्यात्मिक, व्यावसायिक और भावनात्मक पहलुओं में सामंजस्य बना रहे। इसके लिए आवश्यक है कि चिकित्सकों की निगरानी में मनोरोग का इलाज करवाया जाए। खुद को स्वस्थ रखने के लिए स्वास्थ्यवर्द्धक भोजन, नियमित नींद, व्यायाम, अपनी रूचि के अनुसार ग्रुप ज्वाइन करना, परिवार के साथ गुणवत्तापूर्ण समय गुजारना, दोस्तों के साथ अपनी भावनाएं शेयर करनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि जीवन में रोना और हंसना दोनों जरूरी है। कभी-कभी न करना भी जरूर सीख लें। काम पर ज्यादा फोकस रखें मगर अपना भोजन भी समय पर लें। कॉलेज ऑफ नर्सिंग की प्राचार्या डॉ. बीनू मैथ्यू ने मानसिक रोगों के विभिन्न प्रकारों, कारणों और इससे बचाव तथा उपचार की प्रक्रिया के संबंध में जानकारी दी।

इस अवसर पर सप्ताह भर विभिन्न रचनात्मक क्रियाकलाप चिकित्सकों, नर्सिंग स्टाफ एवं छात्रों द्वारा किए गए जिसमें ई पोस्टर प्रतियोगिता, आत्महत्या रोकने के लिए सिक्योरिटी और गेटकीपर्स को प्रशिक्षण, मानसिक स्वास्थ्य पर छात्रों का नुक्कड़ नाटक, मनोरोग ओपीडी में मनोरोगियों और उनके परिवार वालों के लिए विशेष सत्र, स्कूली छात्रों के लिए ऑनलाइन सत्र, संजीवनी वृद्धाश्रम अवंति विहार, रायपुर में मेंटल हेल्थ और योग सत्र   आयोजित किए गए।

कवर्धा। कवर्धा में पुलिस कार्रवाई के विरोध और उस मामले में गिरफ्तार किए गए भारतीय जनता पार्टी और हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं की रिहाई की मांग को लेकर विश्व हिंदू परिषद ने आज प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों में धरना दिया..रायपुर में हुए इस धरने में BJP, RSS ,बजरंग दल समेत सभी हिंदू संगठनों के पदाधिकारी और सदस्य शामिल हुए..

read more: आरबीआई ने सेंट्रम फाइनेंशियल, भारतपे के गठजोड़ को एसएफबी लाइसेंस दिया

रायपुर के बुढ़ापारा धरना स्थल पर दिए गए धरने में BJP सांसद सुनील सोनी, पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल, पूर्व विधायक देवजी पटेल समेत कई नेता शामिल हुए…मामले में बिलासपुर नागरिक मंच ने घटना के विरोध में रैली निकाली लेकिन पुलिसकर्मियों ने उन्हें रास्ते में ही रोक लिया..जिसमें नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, BJP सांसद अरुण यादव भी शामिल हुए और राज्यपाल के नाम SDM को ज्ञापन भी सौंपा..

read more: पूर्व विधायक देवजी भाई पटेल ने CM भूपेश बघेल से की मांग, राजस्थान जाकर पीड़ितों को मुआवजा दें, ट्रेन का टिकट भी बुक कराया

कोरबा में भी VHP की अगुवाई में घटना के विरोध में राष्ट्रपति, राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा..धमतरी में भी VHP ने घटना के न्यायिक जांच की मांग को लेकर CM को ज्ञापन सौंपा..तो वहीं बालोद और जगदलपुर में भी जन आक्रोश महाधरना का आयोजन किया गया..


IMG 20210129 100220 | City News - Chhattisgarhबीरगांव दशहरा उत्सव समिति के अध्यक्ष बेदराम साहू ने बताया कि राजधानी रायपुर से लगा हुवा बीरगांव में पिछले 18 सालों से लगातार अडवानी स्कूल मैदान में रावण के विशाल पुतले का दहन कर भव्य आतिशबाजी के दशहरा उत्सव मनाया जाता है , जिसे देखने क्षेत्र के पंद्रह हजार से अधिक जनता परिवार सहित पहुंचते है,  लेकिन इस साल कांग्रेस के शासन में बुराई पर अच्छाई की जीत, असत्य पर सत्य की जीत और अधर्म पर धर्म की जीत के पर्व भगवान श्रीराम के विजय दिवस दशहरा उत्सव को मनाने की अनुमति नही देने से बीरगांव दशहरा उत्सव समिति के सदस्य आक्रोशित है ,  इन सबके पीछे राजनीतिवश स्थानीय कांग्रेस विधायक सत्यनारायण शर्मा का हाथ होना समझा जा रहा है और समिति द्वारा विरोध में विधायक सत्यनारायण शर्मा का पुतला जलाने का एलान किया गया है  !!

बेदराम साहू ने बताया कि विधायक के ही इशारे पर बीरगांव के हृदयस्थल बुधवारी बाजार में छत्तीसगढ महतारी की मूर्ति लगाने पर रोक लगाया गया,  हमारे समिति द्वारा  पिछले कई साल से 17.सितम्बर को  भगवान विश्वकर्मा जयंती मनाते आ रहे थे उसे भी इस साल अनुमति नही दी गई,  और अब बीरगांव के अडवानी स्कूल में दशहरा उत्सव की अनुमति नही देकर आम जनता को श्रीराम भगवान के कथा और रामलीला से वंचित कर हिन्दु धर्म विरोधी होने का पुख्ता सबुत दिया है जिससे बीरगांव क्षेत्र के सर्वसमाज और सर्वधर्म के लोगों के भावना को आहत पहुंचाया जा रहा है ,  नेक छबी के नकाब पहनने वाले कांग्रेस विधायक के एैसे दूष्कर्म को जनता कभी माफ नही करेगी  !!

रायपुर। छत्तीसगढ़ की सियासत में बीते कुछ दिनों में जो कुछ भी घटा है..वो किसी से छिपा नहीं है.. रायपुर से लेकर दिल्ली तक हलचल तेज है.. सारी सियासी गतिविधियों के बीच केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कांग्रेस के DNA पर ही सवाल उठा दिया है.. सेवा ही समर्पण कार्यक्रम में रायपुर आई केंद्रीय मंत्री ने कांग्रेस को घेरते हुए कहा कि.. बहुमत हमेशा कांग्रेस के सिर पर चढ़ जाता है, वो इसे संभाल नहीं पाती है…केंद्रीय मंत्री के बयान के बाद सूबे की सियासत में एक बार फिर गर्माहट महसूस की जाने लगी है.. ऐसे में सवाल है कि..क्या वाकई कांग्रेस बहुमत को संभाल नहीं पाती है.. निर्मला सीतारमण के दावों में कितनी हकीकत है…?

read more: महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ गठबंधन ने लखीमपुर हिंसा को लेकर 11 अक्टूबर को राज्य बंद का आह्वान किया

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और बीजेपी की राष्ट्रीय नेता का ये बयान ऐसे समय में आया है..जब छत्तीसगढ़ की सियासत में उथलपुथल मचा हुआ है.. 2018 में प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में आई कांग्रेस सरकार के विधायक दिल्ली दौड़ लगा रहे हैं.. तरह-तरह के सियासी कयास लगाए जा रहे हैं… इन सबके बीच बीजेपी के सेवा ही समर्पण कार्यक्रम के तहत एक दिवसीय दौरे पर रायपुर आई निर्मला सीतारमण ने कांग्रेस के DNA पर ही सवाल उठा दिया.. इसके लिये बकायदा उन्होंने राजीव गांधी सरकार का उदाहरण देते हुए कहा कि कैसे राजीव गांधी को जनता ने 406 सीटों का बहुमत दिया था.. मगर वो भी 5 साल की सरकार नहीं चला सके… केंद्रीय वित्तमंत्री ने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि कांग्रेस के मन में लूट है इसलिए वो हर किसी पर लूट का आरोप लगाती है..

read more: पुणे जमीन सौदा मामला : एकनाथ खडसे अदालत में पेश नहीं हुए

हालांकि इससे पहले भी कांग्रेस पर बहुमत को लेकर आरोप लग चुके हैं.. विधानसभा सत्र के दौरान भारतीय जनता पार्टी के विधायकों ने कई बार अपना विरोध दर्ज किया है कि..सत्ता रूढ़ कांग्रेस बहुमत के आधार पर विपक्ष की आवाज को दबाने की कोशिश कर रही है..अब केंद्रीय मंत्री सीतारमण ने भी इसे लेकर कांग्रेस को कठघरे में खड़ा किया है..जिसपर प्रदेश सरकार के वनमंत्री मोहम्मद अकबर ने पलटवार किया कि.. सत्ता का नशा किस पर चढ़ा है वो जनता सब देख रही है..

read more: आरबीआई दरों में कोई बदलाव नहीं करेगा, उदार रुख बनाए रखेगा: एचडीएफसी बैंक के मुख्य अर्थशास्त्री

वैसे ये पहला मौका नहीं है जब किसी केंद्रीय मंत्री ने राज्य सरकार और कांग्रेस पर निशाना साधा हो..इसकी बड़ी वजह है कि.. केंद्र में काबिज केंद्र से अगर कांग्रेस का कोई नेता दमदारी से टक्कर लेता नजर आता है तो वो हैं छत्तीसगढ़ में भरपूर जनाधार वाली सरकार चला रहे भूपेश बघेल…जो राज्य के हक से जुड़े मुद्दों पर तो केंद्र सरकार को जमकर घेरते ही हैं…साथ ही अक्सर राष्ट्रीय मुद्दे पर भी मोदी सरकार को कटघरे में खड़ा करने से नहीं चूकते हैं.. लेकिन क्या सीतारमण का ये कहना कि कांग्रेस बहुमत को पचा नहीं पाती..जायज है..या महज सियासी वार ?


रायपुरः  राजधानी रायपुर से सटे अमलेश्वर थाना इलाके में एक बार फिर गोलीबारी की घटना सामने आई है। यहां क्रिकेट मैच के दौरान कुछ युवकों ने गोली चला दी। हालांकि इस मामले में अभी कोई हताहत की खबर नहीं मिली है। वहीं पुलिस को इसकी सूचना दे दी गई है।

read more : रेलवे के अवैध टिकट दलालों पर RPF की बड़ी कार्रवाई, 2 लाख रुपए के टिकट के साथ 15 दलाल गिरफ्तार

मिली जानकारी के अनुसार अमलेश्वर थाना इलाके के मोतीपुर सांकरा में क्रिकेट मैच खेला जा रहा था। इसी दौरान दोनों टीमों के बीच विवाद हो गया। इसके बाद कुछ युवकों ने अचानक गोली चला दी। गोली की आवाज सुनकर क्रिकेट के मैदान व इलाके में हड़कंप मच गया। हालांकि इसमें कोई हताहत की खबर नहीं मिली है। इसकी सूचना पुलिस को दे दी गई है।


Raman Singh’s latest statement

रायपुर। यूपी के लखीमपुर में सामने आई हिंसक झड़प में 8 लोगों की मौत हुई है। इस घटना के बाद अब देश की राजनीति गरमा गई है। मामले में केंद्रीय मंत्री के बेटे के खिलाफ पुलिस ने केस दर्ज किया है।

ये भी पढ़ें: सुनील शेट्टी ने शाहरुख खान के बेटे आर्यन को बताया बच्चा, कहा- एक मौका दिया जाना चाहिए

इस घटना को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह का बयान सामने आया है। रमन सिंह ने राहुल और प्रियंका गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि घटना बेहद दुखद है, लेकिन लाशों पर राजनीति करना क्या सही है। बस्तर के सिलगेर में पुलिस की गोली से कई आदिवासी किसान मारे गए। 5 महीने से वो आंदोलन कर रहे हैं। राहुल गांधी प्रियंका गांधी में से कौन मिलने गया। लखमीपुर घटना में कांग्रेस सियासत करना बंद करें।

ये भी पढ़ें: कांग्रेस नेता अरुण यादव ने खुद को खंडवा लोकसभा सीट के लिए उम्मीदवारी की रेस किया बाहर! ट्वीट कर कही ये बात

बता दें कि हिंसक झड़प में ​मरने वालों में किसान, पत्रकार, BJP कार्यकर्ता शामिल है। मृतकों की शिनाख्त पुलिस ने कर ली है।

ये भी पढ़ें: लो साहब ऐसे लगाएंगे जुआरियों पर लगाम! आलीशान होटल में जुआ खेलते पकड़ाए SI सहित तीन आरक्षक


रायपुर: कांग्रेस विधायकों के दिल्ली जाने का सिलसिला लगातार जारी है। आज भी सुबह, दोपहर और शाम को कांग्रेस के कई विधायकों ने रायपुर से दिल्ली के लिए उड़ान भरी। इनमें कुंवर निषाद, अनूप नाग, रेखचंद जैन, विनय भगत,ममता चंद्रकार, चक्रधर सिदार और लक्ष्मी ध्रुव शामिल हैं।

Read More: उपचुनाव का दंगल…जारी है मंथन

वहीं क्रेडा अध्यक्ष मिथिलेश स्वर्णकार, विधायक मनोज मंडावी और भुनेश्वर बघेल के आज शाम को दिल्ली जाने की सूचना है। दिल्ली पहुंचे कांग्रेस विधायकों का कहना है कि वे अपने निजी काम से रायपुर आए हैं। वहीं कुछ विधायकों का कहना है कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की भूपेश सरकार हर वर्ग के विकास के लिए काम कर रही है। हम चाहते हैं कि हमारे नेता दौरे के दौरान इन कामों को देखें।

Read More: पूर्व सीएम ने मुख्यमंत्री को दिया चैलेंज, कहा- स्वास्थ्य की चिंता न करें, तैयार हैं रेस लगाने को

मामले में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का कहना है अब तक कोई राजनीतिक घटनाक्रम नहीं हुआ है। ये तमाम अटकलें मीडिया की ओर से लगाई जा रही हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि किसी के कहीं जाने में कोई पाबंदी नहीं है। सब स्वतंत्र है और सब कहीं भी आ-जा सकते हैं। साथ ही छत्तीसगढ़ की तुलना पंजाब से होने पर उन्होंने कहा कि दोनों में कोई तुलना नहीं हो सकती। विधायकों की दिल्ली दौड़ पर पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह और नेता प्रतिपक्ष धर्म लाल कौशिक ने कांग्रेस पर तंज कसा है।

Read More: पूर्व सीएम ने मुख्यमंत्री को दिया चैलेंज, कहा- स्वास्थ्य की चिंता न करें, तैयार हैं रेस लगाने को


रायपुर। छत्तीसगढ़ भवन निर्माण एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण मंडल के अंतर्गत संचालित योजनाओं के क्रियान्वयन एवं जानकारी हेतु सुशील सन्नी अग्रवाल की अध्यक्षता में नगर पालिक निगम रायपुर के सभा कक्ष में कार्यशाला का आयोजन किया गया।

ये भी पढ़ें:  टीपीसीआई ने भारत-मिस्र खाद्य प्रसंस्करण, पैकेजिंग प्रौद्योगिकी बैठक का आयोजन किया

कार्यशाला में मंडल द्वारा संचालित योजना जैसे भगिनी प्रसूति सहायता योजना, मुख्यमंत्री विश्वकर्मा मृत्यु एवं दिव्यांग सहायता योजना, नौनिहाल छात्रवृत्ति सहायता योजना, मुख्यमंत्री ई रिक्शा सहायता योजना की जानकारी दी गई। साथ ही निर्माण श्रमिकों के पंजीयन में आ रही परेशानियों के सरलीकरण की जानकारी भी दी गई।

ये भी पढ़ें: मिजोरम के मुख्यमंत्री की बहन की संक्रमण से मौत, राज्य में संक्रमण दर 32 प्रतिशत

कार्यक्रम में मंडल के अध्यक्ष के अलावा, महापौर एजाज ढेबर और सभापति प्रमोद दुबे भी मौजूद रहे।


Father asks help for daughter’s bone cancer

रायपुर: कहते हैं न कि बेटियां घर की लक्ष्मी होती है, लेकिन घर की लक्ष्मी को कुछ हो जाए तो परिवार के सभी लोग बेचैन हो जाते हैं। ऐसा ही एक मामला रायपुर से आया है, जहां बोन कैंसर से पीड़ित बेटी के लिए पिता ने लोगों से मदद की गुहार लगाई है।

Read More: इस कंपनी ने तोड़े सभी रिकॉर्ड, 17 लाख करोड़ के मार्केट कैप के साथ देश में बनी नंबर-1

दरअसल रायपुर निवासी चंद्रीका प्रसाद अवस्थी की 10 साल की बेटी आरवी कैंसर से पीड़ित है। आरवी के पिता के निजी कंपनी में कार्यरत हैं और उसके इलाज के लिए अब तक 4 लाख रुपए से अधिक खर्च कर चुके हैं। लेकिन आरवी के इलाज के लिए अभी 9,95,000 रुपए की और आवश्यकता है।

Read More: ग्रेजुएशन की छात्रा के साथ दुष्कर्म, दो लोगों के सा​थ मिलकर रास्ते से अपने घर उठा ले गया था आरोपी

फिलहाल आरवी का उपचार नवा रायपुर स्थित बाल्को मेडिकल सेंटर में जारी है, लेकिन अभी पैसों के आभाव में उसे भर्ती नहीं कराया गया है। बेटी के इलाज के लिए पिता चंद्रीका प्रसाद अवस्थी ने लोगों से मदद की गुहार लगाई है। आपकी छोटी सी मदद एक बेटी को नई जिंदगी दे सकती है। IBC24 भी आपसे मदद की अपील करता है।

Read More: यात्रीगण कृपया ध्यान दें! इन 14 स्पेशल ट्रेनों को फिर से शुरू करने जा रहा है रेलवे, देखिए पूरी सूची

बैंक से मदद के लिए डिटेल
Chandrika prasad avasthi
Account number – 30327039988
Saving Account
IFSC code – SBIN0004440

Read More: ‘जोधा-अकबर का नहीं हुआ था प्रेम विवाह, सत्ता के लिए दांव पर लगाया था बेटी को’, BJP विधायक का दावा

UPI से मदद के लिए डिटेल
Gpay
Phonepe
Paytm
Number: 7389900665

Read More: IPL 2021 : केकेआर को लगा बड़ा झटका, ये खिलाड़ी हुए टीम से बाहर, यूएई से लौटे भारत

 

Chandrika Awasthy by ishare digital on Scribd